२३ मंसिर २०७९, शुक्रबार December 9, 2022

प्रष्ट नीति तथा कानून नैहोके अनाथ बालबालिका नागरिकता पैनासे वञ्चित

२४ कार्तिक २०७९, बिहीबार
प्रष्ट नीति तथा कानून नैहोके अनाथ बालबालिका नागरिकता पैनासे वञ्चित

धनगढी । अनाथ तथा अभिभावक विहीन बालबालिकाहे नागरिकता डेना समस्या हुइना बटाइल बा ।
महिला, कानून र विकास मञ्च (एफडब्ल्युएलडी)के आयोजनामे बिफेक रोज धनगढीमे हुइल आसन्न निर्वाचन ओ नागरिकता अधिकारके सवालसम्बन्धी सञ्चारकर्मीहुकनसँगके छलफल कार्यक्रममे उ समस्या बारे जानकारी करागिल हो ।
धनगढी उपमहानगरपालिका वडा नम्बर २ के वडाध्यक्ष धर्मराज ओझा अनाथ तथा अभिभावक विहीन नागरिकता लेना उमेर समूहके बालबालिका, मुस्लिम समुदायके लर्काबच्चनहे नागरिकता डेना प्रक्रियाबारे प्रष्ट नीति, कानून नैरहल ओरसे समस्या हुइल बटैलैं ।
उहाँ कहलैं–‘अभिभावक विहीन बालबालिकानके नागरिकताके सिफारिस करेबेर कोन आधारमे करना हो, उ समूहके लर्का बच्चनहे नागरिकता डेना बारे प्रष्ट नीति ओ कानून फेन नैहो, ओहे ओरसे ओइनहे नागरिकताके लाग सिफारिक कैना समस्या रहल बा ।”


सर्वासाधरण जनताहे नागरिकता कैसकि लेना कना विषय बारे सहि जानकारीके अभावमे फेन नागरिकता प्राप्तीमे समस्या रहल जनाइल बा ।
कार्यक्रममे एफडब्ल्युएलडीके कार्यक्रम संयोजक अधिवक्ता दीपेश श्रेष्ठ नेपालके संविधानमे डाइक नाउसे नागरिकता पैना व्यवस्था रलेसे फेन कार्यान्वयन हुइ नैसेकल बटैलैं । उहाँ कलैं, “नेपाली समाजमे पितृसत्तात्म सोचके कारण संविधानमे उल्लेख करल डाइक नाउसे नागरिकता लेना कार्य कार्यान्वयन हुइ सेकल नैहो ।”
उहाँ नागरिकता सम्बन्धी टमान समस्याके कारण टमान आम नागरिक अपन मौलिक हक प्रयोग कैनासे फेन वञ्चित रहल बटैलैं । उहाँ खास कैके नागरिकता प्रमाणपत्र नैहोे बैंक खाता खोल्ना समस्या, सवारी चालक अनुमति पत्र लेना, निर्वाचनमे भोट डर्ना, सम्पत्ति व्यवस्था कैना, शिक्षामे पहुँच रख्ना, यात्रा सम्बन्धी कागजात प्राप्त कैना, सार्वजनिक क्षेत्रमे रोजगार कैना ओ सामाजिक सेवासे लाभ लेनासे वञ्चिन हुइना करल बाटै । गृह मन्त्रालयके तथ्याङ्क अनुसार उमेर पुगके फेन एक लाख ९० हजार ७२६ जाने नेपाली विविध कारणसे नागरिकता पाइ नैसेकल जनाइल बा ।
कार्यक्रममे एफडब्ल्युएलडीके जिल्ला कार्यक्रम संयोजक तथा अधिवक्ता रेणु प्रधान श्रेष्ठ नागरिकता बिना ढिउर व्यक्तिसे चुनाव डर्नासे वञ्चित रहल बटैली । नागरितासे वञ्चित रहल व्यक्तिहे नागरिता प्राप्तीके लाग उहाँ सञ्चारकर्मीनहे सञ्चारमाध्यमसे उ समस्या बारे उजागर करे पर्ना जोड डेहल रही ।
कार्यक्रममे नेपाल पत्रकार महासंघके जिल्ला अध्यक्ष हिमालय जोशी, जिल्ला सचिव प्रेम चौधरी, पत्रकार उन्नती चौधरी, अंकुश कुँवर लगायत मन्तव्य व्यक्त करले रहिट ।