९ जेष्ठ २०८१, बुधबार May 22, 2024

फ्रेस हाउससे आशारामहे मिलल् सफलता

२० पुष २०७९, बुधबार
फ्रेस हाउससे आशारामहे मिलल् सफलता

सागर कुस्मी
धनगढी ।
 चाहे जार रहे चाहे घाम एक्को सिहरा नैमानके बिहान ६ बजेसे रात ८ बजेसम लग्टार अपन डोकानके काममे हिरगरसे लागल बिल्गैठैं आशाराम चौधरी  ।

कैलालीके धनगढी उपमहानगरपालिका ५ अनमीन चौकमे टमान डोकान बा । जहाँ हिमचुली मासु पसलफें बा । जौन डोकान रखवारी करुइया हुइटैं आशाराम चौधरी । जहाँ हररोज सिकारके मोल मोलाइ हुइठ । इहिसे हुँंकार दैनिक जिनगी चल्टी बटिन ।

दस बरससे यहोंर इहि मासु डोकानसे हुँकार घर व्यवहार चलैना सजिल हुइल बटिन । इहिसे पहिले आशाराम किराना डोकानमे किल सिमित रहिंट । २०५४ सालसे ०६५ सालसम किराना चलैनैं । किरानासे कुछ रकम बचत फें हुइलिन । आकुर थप कारोबार बर्हैम टे कुछ आउर आम्दानी हुइ सोंचके ०६५ सालसे किराना संगे मासु फेन बेंच्ना सुरु करलैं ।

समयके डौरान संगे किरानासे जेडा फाइडा मासु डोकानसे हुइ लग्लिन । डोकान हेरुइयाफें अक्केली हेर्ना कठिन हुइल, उहाँ कठैं, २०७० सालसे मासु डोकान किल चलैटी आइल बटैं । इहे मासु डोकान हुँकार जिन्दगीमे ढेर उप्पर पुगाइल । उहाँ कठैं, इहे मासु बेंचके आझ मोर इ अवस्थामे पुगल बटुँ ।

व्यापारमे तन मन धन लगाके लग्लेसे कोइफें व्यापारमे सफल हुइ सेक्जाइठ । इहे सन्देश डेना एक सफल व्यवसायी हुइँटै आशाराम । अझ्कल इहे काममे हुँकार गोसिनियाँ ओ छावा मद्दत कर्टी आइल बटिन । बिहानसे लेके साँझटक पूरा परिवारे ग्राहक ओइनके माग अनुसार मेहनत कर्टी बटैं । उहाँ अपन डोकान ढर्नासे पहिले धनगढीमे औरेक डोकानमे काम करिंट । जहाँसे दैनिक डेहारी २५० रुपिया किल पाइँट् । जिहिसे अपन परिवार, लर्कनके पर्हाइ खर्चफें नैपुगे । लेकिन आब इ अपने डोकानसे दैनिक मजा आम्दानी हुइटी रहल बटैठैं ।

उहाँ अब्बे बोइलर मुर्घा ओ लोकल मुर्घाके मासु थोक ओ खुद्रा मोलमे बिक्री करठैं । आझ इहे मासु बेंचके हुँकार दुखके दिन हटल बा । कहुँ किहुसे हाँठ जोरे नैपरल हो उहाँ कठैं, अपन परिवार मजासे चलटा, खाइ लगाइ मजासे पुगल बा ।

डोकानसे हुइल प्रगति ?

आशाराम चौधरी धनगढीके राष्ट्र बैंकके पश्छिउँ चोकेमे हिमचुली मासु पसल खोल्ले बटैं । जहाँसे आशारामके अपन, छावा, ओ गोसिनियाँ तीनहुनके महिन्वाँरी २०÷२२ हजार कमाही हुइटी रहल उहाँके कहाइ बा । इहे व्यापारसे हुइल आम्दानीसे अब्बे उहाँ धनगढी ७ देवहरियामे १५ ढुर जग्गा किनके पक्की घरफें जोर्ना सफल हुइल बटैं । सैंकिलमे नेंगना मनैं अझ्कल भेरभेंड्डामे नेंगना हुइल बटैं । लवाइ खवाइमे सुख सयल छाँइल बटिन ।

आशारामके सामाजिक कार्य ?

आशाराम चौधरी एक व्यवसायी कर्मी किल नैहुइँट् । उहाँ एक सामाजिक व्यक्तित्व फेन हुइँट । अपन थारु समुदायके अपन क्षमता अन्सार ढेर ठाउँमे लगानी कर्ले बटैं । अपन सेकलसम बहुत ठाउँमे सहयोग फेन कर्टी आइल बटैं । उहाँ कैलारी २ उत्तर मंझरा कैलालीके बासिन्दा हुइँट ।

उहाँ अपन गाउँघरमे हुइना हरेक कार्यक्रमहे अप्न व्यक्तिगत रुपमे सहयोग फेन कर्टी आइल बटैं ।

फ्रेस हाउससे घर घडेरी जोरलैं रमेश

अस्टे करके फ्रेस हाउस (मासु कटना व्यवसाय) मे रमेश चौधरी फेन जमल बटैं । उहाँ अब्बे धनगढी–२ बैयाँबेहरीमे केभी मासु पसल खोल्ले बटैं । उहाँ फेन इहे व्यापारसे बैयाँबेहरीमे १० ढुर जग्गा किनके पक्की घर जोर्ना सफल हुइल बटैं । उहाँ बिगत १० बरससे इ व्यापार कर्टी आइल बटैं । उहाँ कठैं, इहे व्यापार आझ महिन यहाँसम पुगाइल । उहाँ बेचलरसम पर्हल एक शिक्षित युवा हुइँट । उहाँ बेलौरी नगरपालिका २ मोतिपुर कंचनपुरके हुइँट । रमेश चौधरी अझ्कल मासु पसल संगे टीना डोकान फेन चालू कर्ले बटैं । अझ्कल उहाँक डोकानके सक्कु खर्छ कटाके, महिनक २०/२५ हजार कमाही हुइठिन ।

हमार समाजमे आशाराम ओ रमेश थारु जसिन सयौं युवा इहे पेसामे लागल बिल्गैठैं । जे मजासे मेहनत कैके लागल बा उ हरेक पाइलामे प्रगति कैले बा । पैंसा बिदेशमे किल नाही अपने देशमे फेन कमाइ सेक्जाइठ कना उहाँ लोग लावा युवा पुस्टनहे सल्लाह फेन डेठैं ।