२१ मंसिर २०७९, बुधबार December 7, 2022

बेलौरी नगरपालिकासे बरघर भलमन्साहे कानुनी मान्यता

१ फाल्गुन २०७८, आईतवार
बेलौरी नगरपालिकासे बरघर भलमन्साहे कानुनी मान्यता

कञ्चनपुर । कंचनपुरके बेलौरी नगरपालिका थारु समुदायके आदिमकालसे मन्टी आइल बरघर भलमन्सा परम्परात प्रथाहे मान्यता डेहक लाग ऐन लन्ले बा ।
बेलौरी नगरपालिका नगर क्षेत्रमे बैठटी आइल रानाथारु, डंगौराथारु, कठरियाथारु सक्कु प्रकृतिके थारु समुदाय बरघर भलमन्सा प्रथाहे कानुनी मान्यता डेलक हो । ओकर बारेम् ऐन नानके बेलौरी नगरपालिका कानुनी मान्यता डेले बा । शनिबार नगरपालिकाके ८औँ नगर सभासे ऐन पारित कैगैल बा ।
बेलौरी नगरके मेयर पोतिलाल चौधरी थारु समुदायके लोक संस्कृति परम्परा जोगैना उद्देश्यके साथ बरघर भलमन्सा परम्परात प्रथाहे मान्यता डेहक लाग ऐन लानल बटैलैं ।
मेयर चौधरीके अनुसार परम्परागत रुपमे चल्टी ओ मन्टी आइल बरघर भलमन्सा प्रथाहे अब्बे कानुनी मान्यता डेगैल बा । मेयर चौधरी अपन चुनावी एजेण्डा समेत हुइल ओरसे अब्बे ऐनके रुपमे पारित करल बटैलैं ।
उ ऐनसंगे आउर टमान ऐन समेत बेलौरी पारित कैले बा । जिल्लाके पहिल सदरमुकाम बेलौरीहे सम्बृद्धि बनाइक लाग स्थानीय सरकारसे टमान पहल हुइल समेत मेयर चौधरी बटैलैं ।
थारु समुदायके लोक परम्परा ओ संस्कृति संरक्षणके लाग नगरपालिका सहित मेयर पोतिलाल चौधरी नेतृत्वके जनप्रतिनिधी लानल ऐनमे स्थानीय थारु समुदायके बरघर खुसी हुइल बटैलैं ।