हसुलिया कैलारी अईहो

-कैलारी अनलाइन

बुधवार, १० भाद्र 7:32 AM

समय ओ उमेरह कोई
रोके नाई सेकठ्
जिन्गी जिना क्रममे
कबु दुःख कबु सुख
कहुँ उच कहुँ खाल्ह
हुजाईठ्
मनैनके मन ना हो
कैसिन कैसिन लागठ्
हावा रुकल हस लागठ्
बहटी लडिया कवाईल डेख्ठुु
मढरी, जोग्नी, चिरैं चुरुङ्गन
चिपाइल लागठ्
यात्रा कैना डगरा
बिस्राईल लागठ् ओ रुक जाइठ्
यी सब चीज गतिम आईक लाग
खुशी हुई परठ् जैसिन लागठ्
ओ खुशी प्राप्त करेक लाग
प्रकृतिम रमैना स्वाभाविक हो
उहे मारे कहठु
हसुलिया कैलारी अईहो

घुरहा लडियक आँजर पाँजर
हराभरा हरियाली
मन चौकस होजाइठ्
उहे मारे मोहना लडियम
सोँस मछरिया खल्भल् खल्भल्
खेल्ना
बसन्ता बनुवा जैविक मार्गसे
जोरल
जीव जन्तु कुडुक कुडुक
नेंगना
कटैनी लडियम
गोहनके बसेरा
बनुवा, टलुवासे
भरी भराउ
हमार ठाउँ
पुजापाठ कर्ना
वनदेवी मन्दिर
लाउमे बैठके जोरा जोरी
परिवारसंगे सैयर कर्ना
कोइलही टलुवा
केउँलक फुला फुलल्
सारा टलुवा ओजरार
अहा कट्रा मजा ठाउँ
टब कठु
हसुलिया कैलारी अईहो

छुन छुन मजिरा बज्ना
सखिया नाच
खरोट खरोट नच्ना
मुङग्रह्वा, लाठी
नाच हेरे
सजना, मांगर, धमार
मैना, बर्कीमार, सम्रौटी
सिखे अइहो
मिठ मिठ थारु परिकार संगे
महुवारी पिये अइहो
कट्ना सुग्घर बा
स्मार्ट गाउँपालिका कैलारी
स्वच्छ हावा आँजर पाँजर
वृक्षारोपण
हरा भराम् रमाई
हसुलिया कैलारी अईहो
कैलारी गाउँपालिका–७, बर्का बसन्ता कैलाली

थप सम्बन्धित समाचार
Follow
Us