कब आइ अग्रासन ?

-कैलारी अनलाइन

मङ्गलवार, ९ भाद्र 12:14 PM

डाई बाबानके कोखमे
जरम लेके
बहर पहुरके डोसर
घर जाई पर्ना
छाईक जात
घरबार थरुवा जैसिन रहलेसे फेन
जिन्गी कटाई पर्ना
लहेरिक यादमे जिये पर्ना
डाई बाबा डाडा भैया सब
जनहन सम्झटी
बरसमे दुइचो लहेरिक पहुरा
अस्रा रहना
अग्रासन ओ निसराउके
टमान डिडी बाबुनके सम्बन्ध
लहेरसे मजा हुइहिन कलेसे
केक्रो नै मजा फेन रठिन्
यी आपन आपन कर्म ओ
व्यवहारमे भर परठ्
टब फेन अस्रा रहठ्
अग्रासन कब आइ ?

टमान डिडी बाबुन आपन
भाग्यहे डोस डेटी
गोबरेक छोटाहस
फेँक डेलै मोर डाईबाबा
कहटी
बिलौना करटी
समय बिट्टी जाइठ्
सयमके ना आगे डगरा
न पाछे डगरा
हरेक साल टिहवार
आईठ् जाईठ्
मनो यी ऐसिन विसम
परिस्थिति बा एक आपसे भेट घाटसे
डुर रहे पर्ना
सारा ओर लकडाउन हुइल
अस्टिम्की, अँट्वारी फेन आइल
सनसान डेखाइट रहे
डगरा भयावन लागे
घरसे बाहर जाई नाइ मिल्ना
बाँन्ढुवा चिरैंहस
विगतके बात सम्झटी
गैल साल पनह्वा ढकिया, छिट्नी, छिट्वामे
अग्रासन डेहे आइट डेख्लक
इतिहास बने पुगल
टबफेन अस्रा बाटिन
डिडी बाबुनके
अग्रासन कब आई

आपन घर जट्ना मेरमेराइक
खैना रहे
मनो लहेरिक एक ढकिया
अग्रासनके मैया लागठ्
यी साल डिडी बाबुन
आपन डाडा भैयाके
डगरा हेरट हेरट मिच्छा गिलै
बिचारिन कपारिम हाठ् ढैले
नजर बहुट डुर सम
पुगैटी
चौराहासम पुग पुग
बटिया हेरटी
डिन कट्लिन
यी टिहवार लहेरिक
ओ बेटिया बिच सम्बन्ध
मजबुट कायम करठ्
मनो अँट्वारी टिहवार
ढिरे ढिरे लोप हुइटी जाइटा
यिहीन संरक्षण सम्बद्र्धन
कर्ना जरुरी बा
यमन महिला डिडी बाबुनके
फेन ढिउर भूूमिका बा
ओ सोचटी बाटै
अग्रासन कब आई ?
कैलारी गाउँपालिका–४, के गाउँ खल्ला टोल कैलाली

थप सम्बन्धित समाचार
Follow
Us